Computer Softwear क्या होता है – सम्पूर्ण जानकरी

आज कल ऐसे बहुत सारे परीक्षा होती है उसमे से आपको Computer Softwear क्या होता है से जुड़े सवाल पूछे जाते हैं और इसको जानना भी जरूरी है।

अगर आप एक ऐसे विद्यार्थी या पाठक हैं जिनको Technology के बारे में जानकरी प्राप्त करना अच्छा लगता है तो उनलोगों के लिए भी ये लेख बहुत लाभदायक होगा।

आज कल तो बहुत सारे Softwear आ गये हैं और उसका इस्तमाल भी किया जा रहा है पर Computer Softwear क्या होता है सही से शायद ही किसी को मालूम हो।

आइये जानते हैं Computer Softwear के सम्पूर्ण जानकरी जानकारी साथ ही इसके सभी जानकरी के ऊपर भी पूरी Details से समझेंगे।

Content In The Article Show

Computer Softwear क्या होता है –

जब एक Computer लेते हैं तो उसमे हमें Computer में दो भाग दिए जाते हैं एक Physical और दूसरा Digital और इसमें भी अलग-अलग के प्रकार होते हैं।

Softwear वह पार्ट होता है Computer का जिसको हम सिर्फ देख सकते हैं और उसके माध्यम से अपने काम कर सकते हैं इसको अपने साथ से नहीं छू सकते हैं।

इस Softwear को Computer के सभी कामों को आसान बनाने के लिए बनाया गया है जिसके जरिये अपने काम को आसानी और कम समय में कर सकते हैं।

अभी अलग-अलग कामों के लिए अलग-अलग Softwear बनाएं जा रहें हैं Video Editing के लिए Primier Pro बहुत मशहूर Softwear है वही Photo Editing के लिए Photoshop है।

Computer बहुत सारे Programs एक Group है जिसके द्वारा विशिष्टऔर ख़ास कामों को किया जाता है।  जैसा कि मैंने पहले बताया था।

Computer में दो Part होते हैं जिसमे से एक Hardwear और दूसरा Softwear होता है। Hardwear और Softwear दोनों को अलग-अलग कामों के लिए बनाया गया है।

  • Hardwear में Computer के भौतिक(Physical) पार्ट होते हैं। जैसे – Keyboard, Mouse, CPU, Monitor etc.
  • वहीं Softwear में Computer का Digital पार्ट होते हैं। जैसे – Word Processing, Operating System, Presentation etc.

Softwear अपने काम Hardwear के Interface करके करते हैं इन दोनों में से कोई एक नहीं होने पर आपके Computer काम नहीं कर पाएंगे।

अगर Softwear और Hardwear दोनों को Compare करें तो, Softwear को Computer का दिमाग वही Hardwear को Computer का शरीर कहा जाता है। 

जिस प्रकार से बिना दिमाग के आदमी कुछ नहीं कर सकता है उसी प्रकार Softwear के बिना Computer भी अपने काम नहीं कर सकता है।

  • “Software is a Group of Programmes”

जब Computer On होता है तो अपने Softwear अपने RAM में Load होता है और Central Processing Unit (CPU) में Execute (क्रियान्वित) होता है।

सॉफ्टवेयर की आवश्यकता (Needs of Software) –

अभी हमने आपको Computer Softwear क्या होता है उसको बताया हूँ अब मैं आपको सॉफ्टवेयर की आवश्यकता (Needs of Software) के बारे में जानते हैं।

जैसा कि आपको मालूम है की Softwear और Hardwear दोनों के समूह से ही Computer बना हुआ है, बिना Softwear के Computer एक खली डिब्बे की तरह है जो कोई भी काम का नहीं है।

Computer तब तक काम नहीं करेगा जब तक आप उसमें Oprating System Softwear Load नहीं करेंगे। साथ ही आप को इसके साथ और भी कई सारे Softwear भी जरूरी है।

साथ ही अगर आपको अपने अगर किसी भी प्रकार का काम जैसे – किसी भी प्रकार का Chart या फिर List बनाने हो तो इसके लिए अलग Softwear है।

तो सिर्फ आप Oprating System Softwear के जरिये से आप अपने Computer पर सभी काम नहीं कर सकते हैं इसके लिए काम के मुताबिक Softwear चाहिए होगा।

अभी आपको मालूम हो गया होगा कि सॉफ्टवेयर की आवश्यकता (Needs of Software) क्यों है और इसके जरूरत को भी  होंगे।

Softwear की जानकारी – 

Softwear के कुछ निम्न लिखित जानकरी हैं –

  • Computer चालू करने के लिए
  • Letter Typing के लिए
  • Chart को तैयार करने के लिए
  • Presentation बनाने के लिए
  • Data को Manage
  • Internet का इस्तमाल के लिए

सॉफ्टवेयर के प्रकार- Types of Software In Hindi

Software के मुख्यतः तीन प्रकार होते हैं – 

  1. सिस्टम सॉफ्टवेयर (System Software)
  2. अनुप्रयोग सॉफ्टवेयर (Application Software)
  3. और उपयोगिता सॉफ्टवेयर (Utility Software)

सिस्टम सॉफ्टवेयर (System Software Kya Hai ) –

System Software एक ऐसा Software होता है जिसमे Hardwear को Manage और Control करने के लिए उपयोग में लिया जाता है ताकि Application Software अपना काम सही से कर सके। ये Computer System का आवश्यक भाग है।

  • System Software के माध्यम से ही System को Manage और Control रखने के लिए होता है। 

System Software के कितने प्रकार होते हैं –

System Software के  निम्नलिखित प्रकार होते हैं –

  1. Operating System Software
  2. Compiler Software
  3. Interpreter Software
  4. Assembler Software
  5. Linker Software
  6. Loader Software
Operating System Software क्या है – 

Operating System एक भाग System Software का जिसको सामान्यतः Computer चालू करने के बाद Load किया जाता है, मतलब कि Computer को Boot करने के लिए आवश्यक है।

Operating System के काम निम्नलिखित हैं –

  • Process Management
  • Memory Management
  • Disk and File System
  • Networking
  • Security Management
  • Device Drivers
Compiler Software क्या होता है – 

Compiler काम ये होता है कि Executable File  बनाने के लिए Source Code को Machine Code में translate कर  देता है, और इस Code को Executable File का Object Code कहा जाता है।

Programmer के द्वारा इस Executable Object File को किसी अन्य Computer के सहायता से Copy करने के बाद Execute कर लेता हैं।

मतलब कि अगर एक बार Program को Compil कर दिया जाता है उसके बाद आसानी से Executable File बन जाता है और इसको Execute करने के लिए फिर हमें Compiler की जरूरत नहीं होती है।

Compiler जो है वो Source Code को Machine Code में बदल देता है और इसी काम को तेजी से करने के वजह से Computer में ज्यादा Storage लेता है।

वह कि ये एक साथ ही पुरे Program को Analyze और Read करता है, और अगर Error होता है तो उसी समय आपको Error का Massage दिखा देगा।

Interpreter Software क्या होता है –

Interpreter एक प्रकार का Program है जो High Level Language में लिखा हुआ होता है और Program को Machine Language में बदलने के लिए Interpreter का Use किया जाता है।

Interpreter के द्वारा एक-एक Instruction सही से बारी-बारी से Machine Language में बदलता है, Interpreter कम Storage का इस्तमाल करता है क्यूंकि इसमें बारी-बारी से काम होता है।

Interpreter में एक भी Error आता है तो उसका Error Massage दिखा देता है और जबतक सही नहीं होता है तब तक आगे का काम नहीं करता है।

Assembler Software क्या होता है –

Assembler एक प्रकार का Program है जो Assembly Language को Machine Language में बदलता है, साथ ही इसके अलावा High Level Language को भी Machine Language में बढ़ाता है।

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या है – (What is Application Software in Hindi) –

Application Software, कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर का उपवर्ग है जो User के द्वारा इच्छित कामों में इस्तमाल किया जाता है, इसके माध्यम से ही User तथा Computer एक दूसरे से जुड़ पते हैं।

Application Software कंप्यूटर के लिए बहुत Useful होता है, अगर किसी कंप्यूटर में Application Software नहीं है तो आप इससे कोई भी काम नहीं कर सकते है।

केवल इसको देख सकते हैं इसके उपयोग में निम्नलिखित Programs आती है –

  • MS word
  • MS Excel
  • MS PowerPoint
  • MS Access
  • MS Outlook
  • MS Paint etc.

यूटिलिटी सॉफ्टवेयर क्या है – (What is Utility Software in Hindi) – 

यूटिलिटी सॉफ्टवेयर (Utility Software) को र्विस प्रोग्राम (Service Program) नामकरण से भी जाना जाता है ये एक प्रकार का कंप्यूटर सॉफ्टवेयर है।

इसके द्वारा ही कंप्यूटर के हार्डवेयर (Hardware), ओपरेटिंग सिस्टम (Operating System) व एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर (Application Software) इत्यादि को Organize किया जाता है।

निम्न्मलिखित प्रकार के Utility Software भाग होते हैं –

  • Disk Defragmenter
  • System Profilers
  • Virus Scanner
  • Anti virus
  • Disk Checker
  • Disk Cleaner etc.

Conclusion – Computer Softwear क्या होता है 

दोस्तों हमें उम्मीद है कि आपको आपके सवाल Computer Softwear क्या होता है का जवाब मिल गया होगा और आपको हमारे द्वारा कुछ जानकरी मिली होगी।

इस लेख से जुड़े तथा Computer Softwear कुछ और सवाल या विचार बताना चाहते हैं तो हमें Comment कर बताए इससे हमें ख़ुशी होगी।

हमारे ब्लॉग hindimea.com पर ऐसे और भी जानकरी वाली लेख उपलब्ध है तो आप उसको भी पढ़ कर ज्ञान को बढ़ा सकते हैं और दोस्तों को भी बता सकते हैं।

FAQ’s – Computer Softwear क्या होता है 


कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर क्या होता है?

कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर का काम सही प्रकार से कंप्यूटर को संचालित करना और पूर्ण काम करने हेतु कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर जरूरत है।

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर का मतलब क्या होता है?

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर का सही मतलब होता है एक ऐसा Program जिसके मदद से कोई भी काम कंप्यूटर में किया जाता है।

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते हैं?

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर के तीन प्रकार होते हैं –
1. सिस्टम सॉफ़्टवेयर
2. उपयोगिता सॉफ़्टवेयर
3. एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर

हमें सॉफ्टवेयर की आवश्यकता क्यों है?

हम बिना सॉफ्टवेयर के अपने कंप्यूटर का इस्तमाल नहीं कर सकते हैं इसके वजह से सॉफ्टवेयर की आवश्यकता होती है।

Rehan इस वेबसाइट hindimea.com के Founder हैं। इस वेबसाइट के जरिए लोगों तक Blogging, Online Earning, Tips & Tricks, Computer और Reviews को Share करते हैं।

Leave a Comment